Saturday, August 16, 2008

बारिश में विदा


5 comments:

Geet Chaturvedi said...

यहां भी उम्‍दा.

Dr. Uday 'Mani' Kaushik said...

सादर अभिवादन
पहले तो हिन्दी ब्लोग्स के नए साथियों में आपका सहृदय स्वागत है
दूसरे आपकी सशक्त रचना के लिए आपको बहुत बधाई

चलिए आज मैंने अपने ब्लॉग पे एक गीत डाला है
परिचय के लिए उसकी कुछ पंक्तियाँ देखिये

और कुछ है भी नहीं देना हमारे हाथ में
दे रहे हैं हम तुम्हें ये "हौसला " सौगात में

हौसला है ये इसे तुम उम्र भर खोना नहीं
है तुम्हें सौगंध आगे से कभी रोना नहीं
मत समझना तुम इसे तौहफा कोई नाचीज है
रात को जो दिन बना दे हौसला वो चीज है

जब अकेलापन सताए ,यार है ये हौसला
जिंदगी की जंग का हथियार है ये हौसला
हौसला ही तो जिताता ,हारते इंसान को
हौसला ही रोकता है दर्द के तूफ़ान को

हौसले से ही लहर पर वार करती कश्तियाँ
हौसले से ही समंदर पार करती कश्तियाँ
हौसले से भर सकोगे जिंदगी में रंग फ़िर
हौसले से जीत लोगे जिंदगी की जंग फ़िर

तुम कभी मायूस मत होना किसी हालात् में
हम चलेंगे ' आखिरी दम तक ' तुम्हारे साथ में

आपकी सक्रीय प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा में
डॉ उदय 'मणि'
http://mainsamayhun.blogspot.com

शोभा said...

स्वागत है आपका।

प्रभाकर पाण्डेय said...

सुंदरतम। सजीव एवं नैसर्गिक। नमन आपकी इस कलात्मकता को।

Gyandutt Pandey said...

ओह! सुन्दर!
स्वागत। यहां चित्रकारों का टोटा है हिन्दी ब्लॉगजगत में।
चित्र के साथ साथ कुछ पंक्तियां होती आपकी चित्र विषयक तो और जमता।